प्रोग्रामिंग भाषा क्‍या है – What is Programming Language

प्रोग्रामिंग भाषा क्‍या है – What is Programming Language

प्रोग्राम कंप्‍यूटर को दिये जाने वाले निर्देशों का सेट होता है प्रोग्राम जितना स्पष्ट, विस्तृत और सटीक होगा, कम्प्यूटर उतने ही सुचारू रूप से कार्य करेगा, उतनी ही कम गलतियां करेगा और उतने ही सही उत्तर देगा इन निर्देशों को लिखने के लिये प्रोग्रामिंग भाषा (programming language) की आवश्‍यकता होती है प्रोग्रामिंग भाषा या प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज की आवश्‍यकता होती है

मानव द्वारा समझने के स्‍तर (कठिन से सरल) के आधार पर प्रोग्रामिंग भाषा को तीन श्रेणियों में विभाजित किया गया है –

  1. मशीनी भाषा (Machine Language) –

Computer की most basic language को low-level computer language या machine language भी कहते है जो की केवल binary (‘1’ and ‘0’) code को समझती है लेकिन ये बहुत complex होती है जबकि high-level languages (जिसका example हमने ऊपर दिया – software for school) use करने मे बहुत easy होती है | Low language को machine code मे convert करने के लिए……….

मशीनी भाषा (Machine Language) (CPU)

  1. असेम्बली भाषा (Assembly language)

असेंबली भाषा क्या है और इसका निर्माण क्यों किया गया ?

असेम्बली भाषा (Assembly Language) एक निम्न स्तरीय भाषा (Low Level Language) है, असेंबली लैंग्वेज प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की सेंकेंड जेनरेशन है, असेम्बली भाषा (assembly language) को कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग भाषा के विकास का पहला कदम माना जाता है.

मशीनी भाषा में प्रोग्राम लिखने में आने वाली कठिनाइयों को दूर करने के लिए असेंबली भाषा का निर्माण किया गया क्योंकि मशीनी भाषा में 0 और 1 में लिखे जाने वाले संकेतों को समझना हमारे लिए बहुत ही मुश्किल था। असेंबली भाषा में भी संकेतों का ही प्रयोग…….

Read More

3. उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा (High-Level Programming Language)

यह मनुष्‍य द्वारा समझने में बहुत आसान होती है इसमें साधारण अंग्रेजी के शब्‍दों का प्रयोग किया जाता है तथा बाद में कम्पाइलर का प्रयोग कर मशीनी भाषा (Machine Language) में बदला जाता है.

शुरूआती दौर की प्रोग्रामिंग भाषा बहुत कठिन थी जिसको केवल इस भाषा को केवल कंप्‍यूटर ही समझ सकता है इसे मशीनी भाषाा कहते हैं, पहली पीढ़ी के कंप्यूटरोंं मेंं मशीनी भाषा (Machine language) का प्रयोग किया जाता था। मनुष्‍‍‍य के लिये इस भाषा में प्राेग्राम लिखना असंभव था, इसके बाद …….

Read More….

 

Related posts

Leave a Comment