सर्वश्रेष्ठ शहरों की सूची

इकॉनमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट रैंकिंग्स द्वारा विश्व के 140 शहरों में किये गए. सर्वेक्षण के परिणामस्वरूप जारी आंकड़ों में वियना प्रथम स्थान पर शामिल रहा जबकि दमिश्क इस सूची में अंतिम पायदान पर रहा. यह सर्वेक्षण वर्ष 2004 में पहली बार किया गया जिसके बाद से यह हर साल जारी किया जा रहा है. रहने योग्य 140 शहरों की वैश्विक सूची में भारतीय शहरों को भी स्थान मिला है. इन 140 शहरों की इस सूची में राजधानी दिल्ली को 112वां स्थान हासिल हुआ है. भारत की आर्थिक राजधानी के रूप में…

Read More

UN E-Government Index

E-Government Development Index तीन सामान्यीकृत सूचकांक के भारित औसत के आधार पर एक समग्र सूचकांक है: Telecommunication Infrastructure Index: सूचकांक International Telecommunication Union द्वारा प्रदान किए गए आंकड़ों पर आधारित है. Human Capital Index: यह UNESCO द्वारा प्रदान किए गए आंकड़ों पर आधारित है. Online Service Index: यह UNDESA(United Nations Department of Economic and Social Affairs) द्वारा आयोजित एक स्वतंत्र सर्वेक्षण प्रश्नावली से एकत्रित आंकड़ों पर आधारित है, जो सभी 193 संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों की राष्ट्रीय ऑनलाइन उपस्थिति का आकलन करता है. यह मुख्य रूप से राष्ट्रीय स्तर…

Read More

SIPRI -स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट

SIPRI एक स्वतंत्र अंतर्राष्ट्रीय संस्थान है जिसकी स्थापना 1966 में हुई थी। यह संस्था युद्धों तथा संघर्ष, युद्धक सामग्रियों, हथियार नियंत्रण और निरस्त्रीकरण के क्षेत्र में शोध का कार्य करती है और नीति निर्माताओं, शोधकर्त्ताओं, मीडिया और इच्छुक लोगों को आँकड़ों का विश्लेषण और सुझाव उपलब्ध कराती है। इसका मुख्यालय स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में है और इसे विश्व के सर्वाधिक सम्मानित थिंक टैंकों की सूची में शामिल किया जाता है। रिपोर्ट स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) द्वारा परमाणु हथियारों से जुड़ी रिपोर्ट जारी की गई है. रिपोर्ट के…

Read More

समग्र जल प्रबंधन सूचकांक- नीति आयोग

जीवन में जल के महत्व को ध्यान में रखते हुए इस दिशा में एक और कदम बढ़ाते हुए नीति आयोग ने समग्र जल प्रबंधन सूचकांक (CWMI) पर एक रिपोर्ट तैयार की है। जारी रिपोर्ट में गुजरात को वर्ष 2016-17 के लिए प्रथम श्रेणी में रखा गया, इसके बाद मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र का नंबर आता है। पूर्वोत्तर और हिमालयी राज्यों में वर्ष 2016-17 के लिए त्रिपुरा को प्रथम श्रेणी दी गई, इसके बाद हिमाचल प्रदेश, सिक्किम, और असम का स्थान रहा। सूचकांक में वृद्धि संबंधी बदलाव के…

Read More

भारत की आर्थिक वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत (2018-19)- Fitch Ratings

Fitch Ratings Inc. “Big Three credit rating agencies”में से एक है, other two being Moody’s and Standard & Poor’s. यह 1975 में यू.एस. सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन द्वारा नामित तीन राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सांख्यिकीय रेटिंग संगठनों (NRSRO) में से एक है। फिच रेटिंग के Two Headquarters है पहला न्यूयॉर्क, अमेरिका और दूसरा लंदन, ब्रिटेन है. फिच रेटिंग ने मौजूदा फाइनैंशल इयर 2018-19 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को 7.3 प्रतिशत से बढ़ाकर 7.4 फीसदी कर दिया है. हालांकि उसने कर्ज की लागत बढ़ने और कच्चे तेल की…

Read More

ग्लोबल पीस इंडेक्स 2018

Institute for Economics & Peace (IEP) द्वारा जारी किए गए ग्लोबल पीस इंडेक्स 2018 में भारत 163 देशों की सूची में 137 वें स्थान पर रहा. भारत वर्ष 2017 में इस सूची में 141वें स्थान पर था और इस बार भारत की रैंकिंग में चार स्थान की बढ़ोतरी का कारण हिंसक अपराध के स्तर में कमी को बताया जा रहा है. इस सूची के मुताबिक विश्व का सबसे शांतिपूर्ण देश आइसलैंड है, शांतिपूर्णता के मामले मंथ आइसलैंड की यह सर्वोच्च स्थिति वर्ष 2008 से ही बनी हुई है. आइसलैंड के…

Read More

चाइल्डहुड इंडेक्स 2018-भारत 113 स्थान पर

सेव द चिल्ड्रेन “एंड ऑफ़ चाइल्डहुड इंडेक्स 2018”के मुताबिक, भारतगरीब देशों, कुपोषण, शिक्षा से बहिष्कार, बाल श्रम और बाल विवाह के परिणामस्वरूप बचपन की धमकी के सन्दर्भ में 175 देशों में 113 स्थान पर है. भारत में बाल विवाह 2017 में 21.1% से 15.2% नीचे आ गया है. भारत ने पिछले साल 116 से तीन पदों ऊपर आया है, जिसमें 1000 के पैमाने पर 754 से 768 में 14 अंकों के साथ सुधार हुआ है. सिंगापुर और स्लोवेनियाइंडेक्स में एक साथ पहले स्थान पर और नाइजर के आंकड़ों के साथ उसे 175 पर सूची के अंत में…

Read More

पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक- EPI

पर्यावरण दिवस पर 05 जून 2018 को पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक (ईपीआई) की रेटिंग जारी की गई. इसमें भारत को 177वां स्थान प्राप्त हुआ जबकि सूचकांक में शामिल कुल देशों की संख्या 180 है. वर्ष 2016 में  भारत इस सूची में 141वें स्थान पर था. भारत सरकार द्वारा विभिन्न पर्यावरण हितैषी कार्यक्रम आरंभ किए जाने के बावजूद यह रैंकिंग चिंताजनक है. विश्व आर्थिक मंच द्वारा यह रैंकिंग प्रतिवर्ष जारी की जाती है. इस रिपोर्ट में 10 श्रेणियों के अलग-अलग 24 मुद्दों पर रिसर्च की गई है जिसमें वायु की गुणवत्ता, जल…

Read More